राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन,7387मामलो का निस्तारण,6,20,98,300 की वसूली

राष्ट्रीय लोक अदालत में प्रधान न्यायाधीश पारिवारिक न्यायालय द्वारा 23 मामले अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश, पास्को, न्यायालय द्वारा 2 मामले,अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश कैराना न्यायालय द्वारा 307 मामले , मुख्य न्यायाधीश मजिस्ट्रेट न्यायालय द्वारा 581मामले सिविल जज एसी जे एम कैराना न्यायालय द्वारा 526 मामले, सिविल जज एसी जे एम शामली द्वारा 38 मामले, सिविल जज जूनियर डिवीजन न्यायिक मजिस्ट्रेट शामली द्वारा 514,वह न्यायिक मजिस्ट्रेट शामली द्वारा 2224 वादों का निस्तारण किया गया।

 | 
लोक अदालत

 

सलीम फारूकी-  कैराना। गुरुवार को राष्ट्रीय विकास प्राधिकरण उच्चतम न्यायालय नई दिल्ली उच्चतम न्यायालय इलाहाबाद तथा उत्तर प्रदेश राज्य विधी सेवा प्राधिकरण लखनऊ के द्वारा निर्गत दिशा निर्देशों के अनुसार  कोविड 19 को ध्यान में रखते हुए तहसील परिसर में राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया गया।

न्यायाधीश शामली गिरीश कुमार वैश्य द्वारा राष्ट्रीय लोक अदालत का शुभारंभ किया गया। जिला एवं सत्र न्यायाधीश जनपद शामली द्वारा दीप प्रज्वलित किया।
जिसमें समस्त न्यायिक अधिकारीगण, बैंक के अधिकारियों एवं बार संघ के पदाधिकारीगण मौजूद रहे। राष्ट्रीय लोक अदालत में सुनवाई के लिए आये आये वादकारियों को 350मासक व सेनिटाइजर भी उपलब्ध कराये गये।

राष्ट्रीय लोक अदालत में प्रधान न्यायाधीश पारिवारिक न्यायालय द्वारा 23 मामले अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश, पास्को, न्यायालय द्वारा 2 मामले,अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश कैराना न्यायालय द्वारा 307 मामले , मुख्य न्यायाधीश मजिस्ट्रेट न्यायालय द्वारा 581मामले सिविल जज एसी जे एम कैराना न्यायालय द्वारा 526 मामले, सिविल जज एसी जे एम शामली द्वारा 38 मामले, सिविल जज जूनियर डिवीजन न्यायिक मजिस्ट्रेट शामली द्वारा 514,वह न्यायिक मजिस्ट्रेट शामली द्वारा 2224 वादों का निस्तारण किया गया।


जिनके अंतर्गत कुल सैटलमैंट धनराशि 37,63,261 रुपए वसूले गए। वहीं बैंक एवं दूरसंचार निगम से सम्बंधित प्री लिटिगेशन के 419 वादों का निस्तारण राष्ट्रीय लोक अदालत में किया गया।
जिसमें कुल सैटलमैंट धनराशि 5,83,35,039 रुपए वसूले गए। राष्ट्रीय लोक अदालत में माननीय जनपद न्यायाधीश के मार्गदर्शन में 40 सिविल वादों का एवं एन आई एक्ट का निस्तारण किया गया।
न्यायालय सीनियर डिवीजन एसीजेएम कोर्ट कैराना द्वारा मूल वादों व 11 एएन आई का निस्तारण किया गया। जिनमें6  मामले  पिछले 5 वर्षों से पेंडिंग चल रहे थे।
वहीं  जनपद न्यायाधीश शामली व प्रधान न्यायाधीश परिवार न्यायालय शामली के कुल मार्गदर्शन में दो दम्पत्तयों खालिद, नूर निशा वह रेशमा पत्नी नाजिम के बीच समझौता कराया गया ‌।
साथ ही राष्ट्रीय लोक अदालत में माननीय जिला जज द्वारा 549 ई चालान का भी निस्तारण किया गया।