मेरठ में भाजपा नेत्री के घर पर बरेली की युवती से गैंगरेप, मुकदमा दर्ज

 | 
मेरठ में भाजपा नेत्री के घर पर बरेली की युवती से गैंगरेप, मुकदमा दर्ज

Meerut: मेरठ में एक भाजपा नेत्री के घर पर बरेली की युवती को कोल्डड्रिंक में नशीला पदार्थ पिलाकर सामूहिक दुष्कर्म की वारदात को अंजाम देने का मामला सामने आया है। पीड़ित महिला ने मेरठ एसएसपी ऑफिस पहुंचकर अपनी आपबीती सुनाई तो अफसर भी हैरान रह गए। एसएसपी ने पल्लवपुरम पुलिस को जांच कर कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।

मेरठ में भाजपा नेत्री के घर पर बरेली की युवती से गैंगरेप, मुकदमा दर्ज
पीड़ित महिला

पीड़ित महिला से मिली जानकारी के अनुसार बरेली जिले की चेतना थाना क्षेत्र निवासी एक युवती की फेसबुक के माध्यम से दुल्हेड़ा निवासी महिला से दोस्ती हो गयी। युवती ने बताया कि महिला ने उसको नौकरी दिलाने और हिंदू संगठन में काम करने के बहाने उसको अपने घर पर बुलाया जिसके चलते युवती पिछले 20 दिन से इन्हीं के साथ रह रही थी।

आरोप है कि 16 जुलाई को आरोपी महिला व उसके दो साथियों ने कोल्ड ड्रिंक में नशीली चीज मिलाकर उसके साथ महिला के बेटे व देवर ने दुष्कर्म किया, साथ ही उसकी वीडियो भी बना ली। वहीँ आरोपियों ने किसी से शिकायत करने पर वीडियो वायरल करने और जान से मारने की धमकी दी। युवती का आरोप है कि इस दौरान उन्होंने धोखाधड़ी करके उसके 20 हज़ार रुपये भी हड़प लिए हैं। आरोपी महिला को हिंदू युवा वाहिनी गौ रक्षक की संरक्षक और भाजपा नेत्री भी बताया जा रहा है।

युवती की शिकायत पर एसएसपी प्रभाकर चौधरी ने पल्लवपुरम पुलिस को केस दर्ज करने के निर्देश दिए है। जिसके बाद पल्लवपुरम पुलिस ने आरोपी महिला मीनाक्षी चौहान, अनिकेत चौहान और अजय चौहान पर धोखाधड़ी और सामूहिक दुष्कर्म का केस दर्ज किया है।

इस बारे में पल्लवपुरम थाना प्रभारी देवेश शर्मा का कहना है कि अभी महिला थाने में नहीं आई है। वह एसएसपी के समक्ष ही पेश हुई थी। महिला के आने के बाद ही पूरे प्रकरण की जानकारी मिल सकेगी। फिलहाल एसएसपी के निर्देश पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

इस बारे में मेरठ एसपी सिटी विनीत भटनागर ने बताया की महिला की शिकायत के आधार पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है जांच जारी है। तथ्यों के आधार पर उचित कार्रवाई की जाएगी। दूसरी और जिस महिला पर बरेली की युवती ने आरोप लगाए हैं उस महिला ने भी SP सिटी से शिकायत कर मामले को फर्जी बताया है। साथ ही जांच कर कारवाई करने मांग की है।