UP CRIME: प्रेमी से शादी करने के लिए पिता ने किया इंकार तो कलयुगी बेटी ने करवा दी हत्या

 | 
UP CRIME: प्रेमी से शादी करने के लिए पिता ने किया इंकार तो कलयुगी बेटी ने करवा दी हत्या

वाराणसी: प्रेमी के प्यार में एक बेटी इस कदर पागल हुई कि जिस पिता ने उसे पाल-पोस कर इतना बड़ा किया उसी बेटी ने चंद महीनों के प्यार के चलते पिता को मौत के घाट उतरवा दिया। हैरान करने वाला यह मामला उत्तर प्रदेश के वाराणसी जनपद का है। पुलिस ने आरोपी बेटी‚ उसके प्रेमी और एक अन्य युवक को गिरफ्तार कर चार दिन पुराने इस हत्याकांड का खुलासा कर दिया है।

UP CRIME: प्रेमी से शादी करने के लिए पिता ने किया इंकार तो कलयुगी बेटी ने करवा दी हत्या
पुलिस हिरासत में दोनों आरोपी

आपको बता दें कि 29 जुलाई को शाम करीब 7:00 बजे अपनी बीमार सास को अस्पताल में खाना देने जा रहे किराना व्यापारी राजेश जायसवाल की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। पुलिस मामले की जांच कर रही थी। शुरू में पुलिस प्रॉपर्टी विवाद में राजेश जायसवाल की हत्या होना मानकर चल रही थी‚ लेकिन जैसे ही पुलिस ने परिजनों के मोबाइलों को सर्विलांस पर लगाया तो सारा भेद खुल गया।

एसपी अमित वर्दमा ने बताया कि राजेश जयसवाल की छोटी बेटी का प्रेम प्रसंग गांव के ही रहने वाले जावेद अहमद से चल रहा था। दोनों शादी करना चाहते थे लेकिन अलग धर्म होने के चलते राजेश जयसवाल इस रिश्ते के बिलकुल खिलाफ थे। मामले को लेकर घर में कई बार विवाद भी हो चुका था‚ जिसके चलते राजेश जायसवाल ने बेटी के घर से निकलने पर पाबंदी लगा दी थी।

प्यार पर पहरा बैठाए जाने से बेटी इतनी नाराज हो गई कि उसने पिता को रास्ते से हटाने की ठान ली। उसने अपने प्रेमी जावेद को पूरे मामले की जानकारी दी। जिसके बाद बेटी और उसके प्रेमी ने मिलकर पिता को मारने का प्लान तैयार कर लिया। जावेद ने अपने दोस्त आकिब अंसारी को भी इस काम के लिए अपने साथ शामिल कर लिया। साजिश के तहत तीनों मौके की तलाश में लग रहे। राजेश जायसवाल 29 जुलाई को अपनी बीमार सास को अस्पताल में खाना देने जा रहे थे।

यह भी पढ़ें- Mumbai Crime: नौकरी पाने के लिए बहन के देवर के साथ मिलकर पत्नी ने कर डाली पति की हत्या

इसी दौरान बेटी ने ये सूचना प्रेमी जावेद को फोन पर दे दी। जावेद अपने दोस्त आकिब के साथ राजेश जायसवाल का पीछा करते हुए मोहनसराय राष्ट्रीय राजमार्ग पर पहुंच गया और मौका मिलते ही पीछे से गोली मारकर उनकी हत्या कर दी। घटना को अंजाम देने के बाद दोनों आरोपी अपने-अपने घर चले गए और पिस्टल को छुपा दिया।

उधर पुलिस ने जब परिजनों के मोबाइल सर्विलांस पर लगाए तो छोटी बेटी के फोन से एक नंबर पर घंटों बात होती मिली। इसी आधार पर पुलिस ने जावेद को उठा लिया। सख्ती से पूछताछ की गई तो उसने सारा भेद पलभर में खोल दिया। पुलिस तीनों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।