UP news: हापुड़ में बेरहम सौतेले बाप ने 'पापा' ना कहने पर मासूम को दी ख़ौफ़नाक सज़ा

 | 
UP news: हापुड़ में बेरहम सौतेले बाप ने 'पापा' ना कहने पर मासूम को दी ख़ौफ़नाक सज़ा

Author: गुफरान चौधरी

UP news: हापुड़ में बेरहम सौतेले बाप ने 'पापा' ना कहने पर मासूम को दी ख़ौफ़नाक सज़ा

Hapur: उत्तर प्रदेश के हापुड़ जिले में एक बेरहम सौतेले बाप ने पापा ने कहने पर 8 साल के मासूम की बेरहमी से पिटाई करने के बाद ख़ौफ़नाक सज़ा देते हुए उसके प्राइवेट पार्ट को जलती बीड़ी से दाग दिया। पड़ौसियों ने डायल 112 पर बच्चे के प्राइवेट पार्ट को दागने की सूचना दी।

शाम तक बाबूगढ़ पुलिस मामले को दबाए रही। बच्चे की पिटाई का मामला सोशल मीडिया पर वायरल होने पर हापुड़ एसपी दीपक भूकर ने खुद बाबुगढ़ थाने पहुंचे, तब जाकर पुलिस ने बच्चे का मेडिकल कराया। आरोपी पिता को हिरासत में ले लिया है।

UP news: हापुड़ में बेरहम सौतेले बाप ने 'पापा' ना कहने पर मासूम को दी ख़ौफ़नाक सज़ा
आरोपी पिता

जानकारी के अनुसार बताया गया कि बच्चे की माँ रीता का 12 वर्ष पूर्व मेरठ के इंचौली थाना क्षेत्र निवासी एक ऑटो ड्राइवर से हुआ था। शादी के बाद दोनों के 4 बच्चे पैदा हुए। 1 मार्च 2021 को महिला के पति को हार्टअटैक से म्रत्यु हो गई।

पति की म्रत्यु के बाद महिला के मुंडाली थाना क्षेत्र के रछौती डेरियों निवासी युवक मनोज पुत्र शीशराम के मासूम बच्चा शिवा संबंध हो गए। प्रेम प्रसंग के चलते पंद्रह दिन पूर्व दोनो कुचेसर रोड चौपला पर किराए के मकान में रहने लगे।

महिला अपने तीन बच्चों को उनके दादा-दादी के पास छोड़कर अपने आठ साल के बेटे शिवा को साथ ले गयी थी। शुक्रवार को सौतेला पिता 8 साल के बच्चे को स्कूल लेकर गया तो मास्टर के पूछने पर साथ गए सौतेले पिता के पापा होने से इंकार कर दिया।

इसी बात से खुन्नस खाये बाप ने बच्चे के स्कूल से घर पहुंचते ही उसकी बेरहमी से पिटाई करते हुए उसके प्राइवेट पार्ट को जलती बीड़ी से दो जगह जला दिया। बच्चे की चीख सुनकर पड़ौसियों ने डायल 112 पर कॉल कर मामले की सूचना दी। पुलिस ने देखा तो आठ साल के बच्चे को बेरहमी से पीटा गया था।

लोगों का आरोप है कि सौतेले पिता ने बच्चे के प्राइवेट पार्ट पर जलती बीड़ी लगाई है। पड़ौसियों की सूचना के बाद भी पुलिस मामले को छिपाती रही और बच्चा शाम तक ऐसे ही घूमता रहा।

सोशल मीडिया पर खबर वायरल हुई तो एसपी दीपक भूकर ने संज्ञान लेते हुए शाम को थाना बाबूगढ़ पहुंचे और बच्चे की पीड़ा सुनने के बाद पुलिस को मेडिकल कराने के निर्दश दिए। जिसके बाद बच्चे को मेडिकल के लिए भेज पति को थाने में बैठा लिया गया। मामले में देर रात तक रिपोर्ट दर्ज नहीं हुई थी।