शादी के बाद 8 साल तक संतान के लिए तरसती रही माँ, अब एक साथ दिया 4 बच्चों को जन्म

 | 
शादी के बाद 8 साल तक संतान के लिए तरसती रही माँ, अब एक साथ दिया 4 बच्चों को जन्म

Author: कपिल कुमार

शादी के बाद 8 साल तक संतान के लिए तरसती रही माँ, अब एक साथ दिया 4 बच्चों को जन्म
यशोदा अस्पताल में जन्मे चार बच्चे

गाज़ियाबाद जिले के कमला नेहरूनगर निवासी एक महिला शादी के आठ साल तक एक मात्र संतान के लिए तरसती रही, लेकिन उसकी कोख सूनी रही। इस दौरान महिला ने काफी इलाज़ भी कराया। अब उस महिला ने दिल्ली के एक अस्पताल में एक साथ चार बच्चों को इन-विट्रो फर्टिलाइजेशन (IVF – कृत्रिम गर्भाधान तकनीक) प्रक्रिया से एक साथ चार बच्चों को जन्म देकर सबको हैरान कर दिया है। मां और चारों बच्चे पूरी तरह ठीक हैं।

शादी के बाद 8 साल तक संतान के लिए तरसती रही माँ, अब एक साथ दिया 4 बच्चों को जन्म
चारों बच्चों के साथ यशोदा हॉस्पिटल के डॉक्टरों की टीम

दक्षिणी दिल्ली के “सीड्स ऑफ इन्नोसेंस” की निदेशक और सह-संस्थापक डॉ. गौरी अग्रवाल ने कहा कि क्लीनिक आने से पहले महिला आईयूआई के चार चक्र से गुजर चुकी थी। (IUI मतलब इंट्रा यूटेराईन इन्सेमिनेशन। ये एक ऐसी टेक्नीक है जिसमें एक पतली नली के सहायता से धुले हुए शुक्राणुओं को बच्चेदनी के मुँह द्वारा बच्चेदनी में डाले जाते हैं।) जांच में पता चला कि महिला को आईवीएफ की जरूरत थी।

डॉक्टर ने कहा कि जब हमने छह सप्ताह में एक ट्रांस वजाइनल स्कैन किया, जिसमे चार दिलों की धड़कन मिलीं। जिसके बाद चारों गर्भावस्था के जोखिमों के बारे में माता-पिता को विस्तार से बताया। अस्पताल ने बताया कि वे अपने फैसले पर कायम रहे। डॉ. अग्रवाल ने कहा कि सोलहवें सप्ताह में, हमने गर्भाशय को खुलने से रोकने के लिए एक सर्विकल स्टिच लगाया और उसे करीब से प्रसव पूर्व निगरानी में रखा गया। 33 सप्ताह के बाद महिला ने चार स्वस्थ बच्चों को जन्म दिया जिनमें तीन लड़के और एक लड़की थी। सभी का वजन 1.5 किलोग्राम से अधिक था