Corona Vaccination: एक दिन में लगी 1 करोड़ से अधिक वैक्‍सीन डोज, 50 फीसदी वयस्‍क आबादी अब पूर्ण वैक्‍सीनेटेड

 | 
Corona Vaccination: एक दिन में लगी 1 करोड़ से अधिक वैक्‍सीन डोज, 50 फीसदी वयस्‍क आबादी अब पूर्ण वैक्‍सीनेटेड
Corona Vaccination: एक दिन में लगी 1 करोड़ से अधिक वैक्‍सीन डोज, 50 फीसदी वयस्‍क आबादी अब पूर्ण वैक्‍सीनेटेड
फोटो साभार सोशल मीडिया

नई दिल्ली: देश(Country) में कोरोना वायरस(Corona Virus) के खिलाफ बड़े पैमाने पर टीकाकरण अभियान(vaccination campaign) के तहत शनिवार को एक दिन में कोरोना वैक्सीन(Corona Vaccine) की एक करोड़ से अधिक खुराकें लागू की जा चुकी हैं. अब तक देश में लोगों को टीके की कुल 127.5 करोड़ खुराक पिलाई जा चुकी है। अब एक राहत की खबर यह भी है कि वैक्सीन के लिए पात्र देश की 50 फीसदी वयस्क आबादी को कोरोना वैक्सीन की दोनों खुराक मिल चुकी है.

यह भी पढें-Corona: भारत में Omicron का एक ओर केस, साउथ अफ्रीका से Gujarat लोटा शख्स संक्रमित मिला

देश में शनिवार को कोरोना वैक्सीन की 1.03 करोड़ डोज लागू की जा चुकी हैं। कुछ राज्यों में शनिवार को कोरोना वैक्सीन की 10 लाख से ज्यादा डोज दी गईं। इनमें से बिहार में 15.33 लाख, तमिलनाडु में 14.84 लाख, राजस्थान में 10.8 लाख और उत्तर प्रदेश में 10.24 लाख खुराक दी जा चुकी है। ऐसे में अब योग्य युवा आबादी के 85 फीसदी को कोरोना वैक्सीन की पहली खुराक मिल गई है. वहीं, दोनों खुराक 50.35 फीसदी आबादी पर लागू की गई है।

भारत में अब तक कोरोना वायरस के एक नए रूप ओमाइक्रोन के चार मामले सामने आ चुके हैं। दक्षिण अफ्रीका में नए स्वरूप के बाद एक सप्ताह से अधिक समय से देश में टीकाकरण की गति तेज हो गई है। इस पैटर्न को WHO ने ‘चिंताजनक’ करार दिया है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने शनिवार को ट्वीट किया था, ‘भारत में आज कोविड-19 के एक करोड़ टीके लगाए गए। घर-घर दस्तक अभियान जोरों पर चल रहा है। दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में नई ऊंचाइयां छू रहा है और नई उपलब्धियां हासिल कर रहा है.

सरकारी आंकड़ों के मुताबिक इस साल नवंबर में औसतन 59.32 लाख खुराक प्रतिदिन दी जा रही हैं जबकि मई में औसतन 19.69 लाख खुराक प्रतिदिन दी जा रही हैं। हालांकि, 30 से अधिक जिलों में कोरोना के मामलों की बढ़ती संख्या स्वास्थ्य मंत्रालय के लिए थोड़ी चिंता का विषय है. मंत्रालय ने शनिवार को इसे लेकर पांच राज्यों और केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर को चेतावनी दी है।

केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने शनिवार को केरल, कर्नाटक, तमिलनाडु, ओडिशा, मिजोरम और जम्मू-कश्मीर को पत्र लिखकर चिंता व्यक्त की है। इनमें सभी संवेदनशील जिलों को सतर्कता बढ़ाने को कहा गया है.

यह भी पढें-Omicron का असर: भारत में इस वैरिएंट से संक्रमित मरीज ने खुद बताया अपना हाल, जानें अब तक क्या लक्षण मिले?