महंगाई: आजादी के समय पैसे से मिलने वाले सामान अब मिल रहा सैकड़ो में 

 | 
महंगाई: आजादी के समय पैसे से मिलने वाले सामान अब मिल रहा सैकड़ो में 

Author: मनोज कुमार

महंगाई: आजादी के समय पैसे से मिलने वाले सामान अब मिल रहा सैकड़ो में 
सांकेतिक चित्र सोशल मीडिया

भारत देश में आजादी के 74 सालों में बहुत से बदलाव आए हैं। इन 74 सालों में महंगाई इस चरम पर है। 1947 में देश के अंदर वर्तमान जितनी सुविधाएं नहीं थीं। हालांकि अभी भी अन्य देशों की तुलना में अपने देश में कई सुविधाओं की कमी है। हालांकि बढ़ती महंगाई का दंश हर देशवासी झेल रहा है। गांव से लेकर शहरों तक लोग महंगाई के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं।

15 अगस्त 1947 को भारत देश आजाद हुआ था। इन 74 वर्षों में पैसे में मिलने वाले सामानों के दाम 100 रुपये के भी पार पहुंच गए। आम जनमानस को महंगाई के कारण बेहाल है। दिन-प्रतिदिन महंगाई बढ़ती जा रही है। बेतहाशा जनसंख्या वृद्धि के कारण लोगों की जरूरतें बढ़ रही हैं, महंगाई बढ़ने का एक मुख्य कारण यह भी है।

आपको बता दें कि इन दिनों बाजार में किलोग्राम (kg) के हिसाब से सामान दिया जाता है। मगर आज से 74 वर्ष पूर्व सामान सेर के हिसाब से मिलता था। सेर लगभग 933 ग्राम के बराबर होता है। बताया गया कि आजादी के समय प्रति 10 ग्राम सोने की कीमत 88.62 रुपये थी। 74 साल बाद सोने की कीमत 48 हजार 265 रुपये है। हालांकि कुछ समय पहले प्रति 10 ग्राम सोने की कीमत 55 हज़ार रुपये से ज्यादा तक पहुंच गई थी

सामान 1947 के दाम आज के दाम आटा 1 रुपया 28 रुपये
चावल 30 पैसा 33 रुपये
दूध 50 पैसा 50 रुपये आलू 25 पैसा 30 रुपये
अरहर 2 रुपये 115 रुपये
राजमा 1.5 रुपये 130 रुपये
मावा 2 रुपये 260 रुपये
साबुन 15 पैसे 191 रुपये
पेट्रोल 2 रुपये 98.12 रुपये

नॉट: (दाम प्रति किलो के अनुसार)