पोती को बचाने के लिए दादी ने मारी तेंदुए के मुंह पर लात‚ दादा ने जबड़ा खोलकर बच्ची को निकाला बाहर

 | 
पोती को बचाने के लिए दादी ने मारी तेंदुए के मुंह पर लात‚ दादा ने जबड़ा खोलकर बच्ची को निकाला बाहर

Bhopal news: मध्य प्रदेश के भोपाल में एक हैरान कर देने वाली घटना सामने आई है। जहां एक बुजुर्ग दंपत्ति दो साल की अपनी पोती की जान बचाने के लिए आदमखोर तेंदुए से जा भिड़े। इसका नतीजा यह रहा कि दोनों ने तेंदुए के मुंह से बच्ची को सकुशल बाहर निकाल लिया। हालांकि इस दौरान बुजुर्ग दंपत्ति गंभीर रूप से घायल हो गए हैं जिनका अस्पताल में उपचार चल रहा है।

पोती को बचाने के लिए दादी ने मारी तेंदुए के मुंह पर लात‚ दादा ने जबड़ा खोलकर बच्ची को निकाला बाहर

जानकारी के अनुसार घटना 19 अगस्त की है। जनपद के कूनो नेशनल पार्क के पास स्थित गांव में रहने वाले बुजुर्ग दंपत्ति जयसिंह और बसंती‚ अपनी 2 साल की पोती के साथ घर के आंगन में सो रहे थे। आधी रात के बाद एक आदमखोर तेंदुआ घर में घुस आया और उसने बच्ची को मुंह में उठा लिया। बच्ची के रोने की आवाज सुनकर बुजुर्ग महिला की आंखें खुल गई। उसने तेंदुए को देखा तो उसकी चीख निकल गई।

इतने में बुजुर्ग की भी आंखें खुल गई। इसके बाद बच्ची को बचाने के लिए दोनों ने मिलकर तेंदुए पर हमला कर दिया और बच्ची को पकड़कर अपनी तरफ खींचने लगे। तेंदुए के जबड़े से बच्ची को बाहर निकालते वक्त बुजुर्ग महिला तेंदुए के मुंह पर लात मारती रही। वहीं बुजुर्ग भी तेंदुए के जबड़े को खाेलने के लिए उसकी आँखों पर हमला करते रहे।

खुद को गिरता हुआ देख तेंदुए के हौसले पस्त हो गए‚ जिसके बाद उसका जबड़ा खुल गया। बुजुर्ग ने तुरन्त बच्ची बाहर खींच लिया। इस दौरान चीख पुकार की आवाज सुनकर गांव के अन्य लोग भी मौके पर की ओर दौड़ पड़े। इसके बाद तेंदुआ जंगल की ओर भाग गया। अपने बुलंद हौंसले की वजह से बुजुर्ग दंपत्ति ने मासूम बच्ची को सकुशल बचा लिया। जिसने भी यह घटना सुनी वो हैरान रह गया। हर कोई बुजुर्ग दंपत्ति बसंती और जयसिंह की तारीफ कर रहा है। लोगों का कहना है कि दाेनों की बहादुरी के कारण ही दो साल की मासूम बच्ची की जान बच सकी।