Omicron से बढ़ी चिंता, साउथ अफ्रीका और अन्य हाई रिस्क वाले देशों से भारत लौटे 6 लोग मिले कोरोना संक्रमित

 | 
Omicron से बढ़ी चिंता, साउथ अफ्रीका और अन्य हाई रिस्क वाले देशों से भारत लौटे 6 लोग मिले कोरोना संक्रमित
Omicron से बढ़ी चिंता, साउथ अफ्रीका और अन्य हाई रिस्क वाले देशों से भारत लौटे 6 लोग मिले कोरोना संक्रमित
फोटो साभार सोशल मीडिया

मुंबई: कोरोनावायरस(Coronavirus) न्यू वेरियंट ओमाइक्रोन(New Variant Omicron) ने पूरी दुनिया के लोगों की नींद हराम कर दी है और विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने भी इसे लेकर चिंता जताई है, जिसके बाद भारत सरकार(Indian government) ने नए वेरिएंट से बचाव की तैयारी कर ली है. इस बीच दक्षिण अफ्रीका(South Africa) और अन्य उच्च जोखिम वाले देशों से महाराष्ट्र(Maharashtra) लौटे 6 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं, जिसके बाद प्रशासन की चिंता बढ़ गई है।

यह भी पढें-Omicron से मुकाबले को भारत कितना तैयार, जानिए आपके राज्य ने क्या की तैयारी

Omicron Variant की पुष्टि नहीं
कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए 6 लोगों में अभी तक नए वेरिएंट ओमाइक्रोन की पुष्टि नहीं हुई है। महाराष्ट्र के स्वास्थ्य विभाग ने जानकारी देते हुए बताया कि कोरोना संक्रमित पाए गए लोगों के सैंपल जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए भेजे गए हैं और रिपोर्ट का इंतजार है. साथ ही उनकी कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग भी की जा रही है।

भिवंडी के वृद्धाश्रम में और 17 लोग पॉजिटिव
महाराष्ट्र के भिवंडी स्थित मातोश्री वृद्धाश्रम में 17 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इससे पहले सोमवार को वृद्धाश्रम में 62 लोग कोविड-19 से संक्रमित पाए गए, जिसके बाद 52 अन्य लोगों का परीक्षण किया गया। एंटीजन टेस्ट में इन 17 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई थी, लेकिन आरटी-पीसीआर में इनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है और इन्हें आइसोलेट कर दिया गया है. भिवंडी के वृद्धाश्रम में मिले ज्यादातर लोगों को कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज मिल चुकी थी.

महाराष्ट्र में कोविड-19 के 678 नए केस आए सामने
महाराष्ट्र में मंगलवार को कोरोनावायरस के 678 नए मामले सामने आए, जबकि 35 मरीजों की इस महामारी से मौत हो गई। इसके बाद राज्य में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 66 लाख 35 हजार 658 हो गई है, जबकि अब तक 1 लाख 40 हजार 997 लोग कोविड-19 से अपनी जान गंवा चुके हैं. महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटे में 942 मरीज कोरोना वायरस से ठीक भी हुए जिसके बाद इस महामारी से ठीक होने वाले मरीजों की संख्या 64 लाख 83 हजार 435 हो गई है.

यह भी पढें-दावा: 31 दिसंबर तक चलेगा ‘हर घर दस्तक’ अभियान, 100 प्रतिशत लोगों को दिया जाएगा कोरोना का पहला टीका