Tokyo Olympics: गोल्ड से चूके रवि दहिया, सिल्वर मेडल पर किया कब्जा

 | 
Tokyo Olympics: गोल्ड से चूके रवि दहिया, सिल्वर मेडल पर किया कब्जा
Tokyo Olympics: गोल्ड से चूके रवि दहिया, सिल्वर मेडल पर किया कब्जा

Tokyo Olympics: टोक्यो ओलंपिक में 23 साल के भारतीय पहलवान रवि दहिया सिल्वर मेडल जीत चुके हैं। 57 किलो फ्रीस्टाइल वर्ग के फाइनल में रवि दहिया को दूसरी वरीय रूस ओलंपिक समिति के पहलवान जावुर युगुऐव ने 7-4 से हरा दिया है। रवि भैया ऐसे दूसरे भारतीय पुरुष खिलाड़ी हैं जिन्होंने सिल्वर मेडल जीता है। उनके बेहतरीन प्रदर्शन को पूरा देश सलाम कर रहा है। सोशल मीडिया पर रवि दहिया के नाम की चर्चाएं हो रही हैं।

रवि दहिया गोल्ड मेडल जीतने से चूक गए लेकिन उन्होंने देश को सिल्वर मेडल दिला कर नाम रोशन किया है। रवि दहिया मूल रूप से हरियाणा के सोनीपत जिले के नेहरी गांव के रहने वाले हैं। उनके पिता पेशे से किसान हैं। बताया जा रहा है कि रवि दहिया का शुरुआती सफर बेहद कठिन रहा। आर्थिक तंगी के चलते उन्हे कई परेशानियों का सामना करना पड़ा।

बावजूद उनके पिता राकेेश दहिया ने बेटे की ट्रेनिंग में कोई कसर नहीं छोड़ी। वह हर रोज अपने गांव से 40 किलोमीटर का सफर तय करके छत्रसाल स्टेडियम तक बेटे के लिए दूध और फल पहुंचाते थे। रवि दहिया ने दिल्ली के छत्रसाल स्टेडियम से 10 साल की उम्र से ही ट्रेनिंग लेनी शुरू कर दी थी। उन्होने सुशील कुमार‚ योगेश्वर दत्त जैसे खिलाड़ियों को खेलते हुए देखा और खुद पहलनवान बनने की ठान ली। अपने जूनून के चलते ही आज वह स्टेडियम से ट्रेनिंग लेकर इंटरनेशनल रेसलर बन गए हैं।

पूरा देश रवि दहिया का सलाम कर रहा है। आपको बता दें कि टोक्यो ओलंपिक में भारत ने अब तक कुल पांच पदक जीते हैं। जिसमें भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने कांस्य पदक पर कब्जा किया है। वही भारोत्तोलन में मीराबाई चनू ने रजत, बैडमिंटन में पीवी सिंधु ने कांस्य पदक जीता. साथ ही बॉक्सर लवलीना ने बोरगोहेन में कांस्य पदक अपने नाम किया है।

देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रवि दहिया को ट्वीट कर बधाई दी है। पीएम ने लिखा है कि – रवि कुमार दहिया एक उल्लेखनीय पहलवान हैं। उनकी फाइटिंग स्पिरिट और दृढ़ता उत्कृष्ट है। #Tokyo2020 में रजत पदक जीतने के लिए उन्हें बधाई।

यह भी पढ़ें- Tokyo Olympic: भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने 41 साल बाद जीता मेडल, जर्मनी को हराकर जीता ब्रॉन्ज