अमरोहा: अपने बेटे की बलि दो तब मिलेगा घर मे छुपा खजाना, 2 लाख ठगने के बाद बोला तांत्रिक

 | 
अमरोहा: अपने बेटे की बलि दो तब मिलेगा घर मे छुपा खजाना, 2 लाख ठगने के बाद बोला तांत्रिक

मनोज कुमार

अमरोहा: अपने बेटे की बलि दो तब मिलेगा घर मे छुपा खजाना, 2 लाख ठगने के बाद बोला तांत्रिक
सांकेतिक चित्र

अमरोहा में घर में छिपा खजाना ढूंढने के नाम पर एक तांत्रिक ने परिवार को झांसे में लेकर उनसे दो लाख रुपये ठग लिए। जिसके बाद भी खजाना नही निकलने पर तांत्रिक दंपति से उसके दस दिन के नवजात बेटे की बलि मांग रहा है। दंपति के विरोध करने पर तांत्रिक उनको जादुई शक्ति से नुकसान पहुंचाने की धमकी दे रहा है। पीड़ित दंपती ने कोतवाली में तहरीर देकर शिकायत दर्ज कराई है। दबिश से पहले ही तांत्रिक फरार हो गया। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

डिडौली कोतवाली क्षेत्र के असगरीपुर गांव निवासी जब्बार अहमद पत्नी इरम फातमा अपने दस दिन के नवजात बेटे को लेकर शुक्रवार को डिडौली कोतवाली पहुंचे। उन्होंने आरोप लगाया कि क्षेत्र के गांव ककराली निवासी एक तांत्रिक ने छह महीने पहले उनके पिता इकरार अहमद को घर में खजाना छिपा होने का झांसा दिया था। उसने तंत्र विद्या द्वारा घर से खजाना निकालने का दावा किया।

तांत्रिक ने उसके पिता को झांसे में लेकर 50 हजार रुपये ठग लिए। इस बीच उसके पिता इकरार अहमद का निधन हो गया। आरोप है कि इकरार के निधन के बाद तांत्रिक ने उन दोनों पति पत्नी को अपने जाल में फंसाकर घर में छिपा खजाना निकालने के नाम पर डेढ़ लाख रुपये और ठग लिए, लेकिन खजाना नही निकला।

इसी बीच दस दिन पहले जब्बार की पत्नी इरम फातमा ने एक बेटे को जन्म दिया है। तांत्रिक को बच्चा पैदा होने की जानकारी हुई तो दंपति पर 10 दिन के बच्चे की बलि देने के लिए दबाव बना रहा है। उसका कहना है कि इसके बाद ही खजाना मिल पाएगा। बलि की बात सुनकर डरा दंपती कोतवाली पहुंच गया और शिकायत की।

इंस्पेक्टर ने बताया की तहरीर के आधार पर जांच की जा रही है। आरोपी को पकड़ने के लिए दबिश दी गई थी, वह फरार हो गया है। मामले में रिपोर्ट दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी