Tokyo olympic: भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने 41 साल बाद जीता मेडल, जर्मनी को हराकर जीता ब्रॉन्ज

 | 
Tokyo olympic: भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने 41 साल बाद जीता मेडल, जर्मनी को हराकर जीता ब्रॉन्ज

Author: मनोज कुमार

Tokyo olympic: भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने 41 साल बाद जीता मेडल, जर्मनी को हराकर जीता ब्रॉन्ज
जीत के बाद जश्न मानती भारतीय पुरुष हॉकी टीम: फोटो साभार सोशल मीडिया

भारत ने 41 साल बाद हॉकी में ओलंपिक मेडल जीतकर इतिहास रच डाला है। भारत ने जर्मनी को 5-4 से हराकर ब्रॉन्ज मेडल हासिल किया है। हॉकी में भारत का यह 12वां ओलंपिक मेडल है। भारत इससे पहले हॉकी में आठ गोल्ड, एक सिल्वर और दो ब्रोन्ज ओलंपिक मेडल जीत चुका है। भारतीय हॉकी टीम की इस जीत को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ऐतिहासिक बताया है।

भारत और जर्मनी के इन खिलाड़ियों ने किए गोल

भारत की तरफ से सिमरनजीत सिंह (17वें मिनट और 34वें मिनट) ने दो गोल, हार्दिक सिंह (27वां मिनट), हरमनप्रीत सिंह (29वां मिनट) और रुपिंदर पाल सिंह (31वां मिनट) में गोल किये इस तरह भारतीय खिलाड़ियों ने 5 गोल किये। दुनिया की चौथे नंबर की टीम जर्मनी की ओर से तिमूर ओरूज (दूसरे मिनट), निकलास वेलेन (24वें मिनट), बेनेडिक्ट फुर्क (25वें मिनट) और लुकास विंडफेडर (48वें मिनट) ने गोल किये। आखरी समय में गोलकीपर श्रीजेश ने जर्मनी को मिले पेनाल्टी कॉर्नर मे एक भी गोल नहीं होने दिया।

पुरुष हॉकी टीम ने अभी तक जीते 12 ओलंपिक मैडल (8 स्वर्ण,1सिल्वर,3 ब्रॉन्ज)

भारतीय टीम ने ओलंपिक के इतिहास में अपना पहला गोल्ड मेडल 1928 ओलंपिक में जीता था। टीम ने इसके चार साल बाद 1932 ओलंपिक में लगातार दूसरे मैडल जीता और 1936 ओलंपिक में स्वर्ण पदक की हैट्रिक लगाई थी। जिसके बाद भारतीय टीम ने 1948 1952, 1956, 1964 और 1980 ओलंपिक में गोल्ड मेडल जीतकर कुल 8 स्वर्ण पदक अपने नाम किये थे। इन आठ स्वर्ण के अलावा भारतीय हॉकी टीम ने 1960 के ओलंपिक में सिल्वर मेडल जीता था। जिसके बाद भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने 1968, और 1972 के ओलंपिक में ब्रॉन्ज मेडल जीते थे।