खूंखार जंगली जानवरों के बीच 3 दिन तक जंगल में रही 1 साल की मासूम बच्ची

 | 
खूंखार जंगली जानवरों के बीच 3 दिन तक जंगल में रही 1 साल की मासूम बच्ची
खूंखार जंगली जानवरों के बीच 3 दिन तक जंगल में रही 1 साल की मासूम बच्ची

Amazing news: रूस से एक ऐसी हैरान कर देने वाली खबर सामने आई है जिस पर भरोसा करना मुश्किल है, लेकिन मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार घटना सच है। दरअसल यहां माता-पिता के साथ पार्क में खेल रही 1 साल की मासूम बच्ची अचानक कहीं गुम हो गई। परिजनों ने उसे बहुत ढूंढा लेकिन बच्ची का कुछ पता नहीं चला। लोगों ने पास के जंगल में भी कई किलोमीटर तक बच्ची के लिए सर्च ऑपरेशन चलाया फिर भी बच्ची का कोई सुराग नहीं मिला।

फिर कुछ ऐसा हुआ जिस पर भरोसा करना मुश्किल है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक बच्ची 3 दिन बाद जंगल में एक पेड़ के नीचे खड़ी हुई रोती मिली। जिस जंगल में यह बच्ची मिली वहां एक से एक खतरनाक जानवर रहते हैं। ऐसे में बच्ची का सह कुशल मिलना हर किसी को हैरान कर देने वाला है।

द मिरर अखबार की रिपोर्ट के मुताबिक बच्ची की उम्र महज 1 साल है। अपने माता-पिता के साथ घर के पास पार्क में खेल रही थी और खेलते खेलते अचानक वह पास में ही जंगल में पहुंच गई और गुम हो गई। बच्ची के माता-पिता के होश तब उड़ गए जब उन्हें पार्क में बच्ची नहीं मिली। उन्होंने जंगल में भी काफी खोजबीन की लेकिन बच्ची का कोई सुराग नहीं मिला।

करीब 12 घंटे तक खोजबीन करने के बाद परिजन यह मान कर बैठ चुके थे कि शायद कोई जंगली जानवर बच्ची को उठाकर के ले गया है और वह से खा गया होगा। फिर भी कुछ लोग यह सोच कर बच्ची को तलाशते रहे कि शायद उसका शव ही बरामद हो जाए। आखिरकार 3 दिन बाद बच्ची घर से कुछ किलोमीटर दूर घने जंगल में मिल गई।

रिपोर्ट के मुताबिक बच्ची जोर जोर से चिल्ला रही थी और रो रही थी। जिसके बाद लोग मौके पर पहुंचे और बच्ची को उठा लिया। इस दौरान बच्ची के परिजन भी मौके पर पहुंच गए, जिन्हें देखकर बच्ची शांत हुई। रिपोर्ट के मुताबिक बच्ची को शरीर पर कीड़ों के काटने के निशान थे और वह बेहद कमजोर भी हो चुकी थी।

हैरानी की बात यह है कि बच्ची ने अकेले इस खौफनाक जंगल में दो रात और 3 दिन गुजारे, जबकि इस जंगल में भालू, चीता और खौफनाक भेड़िए भी रहते हैं। ऐसे में बच्ची कैसे और कहां रही यह बेहद ही हैरान और परेशान करने वाली बात है। फिलहाल बच्ची का उपचार किया जा रहा है और अब वह स्वस्थ है।