Afganistan latest: काबुल एयरपोर्ट पर अफगान सुरक्षा बलों पर हमला‚ एक सैनिक की मौत, तीन घायल

 | 
Afganistan latest: काबुल एयरपोर्ट पर अफगान सुरक्षा बलों पर हमला‚ एक सैनिक की मौत, तीन घायल
Afganistan latest: काबुल एयरपोर्ट पर अफगान सुरक्षा बलों पर हमला‚ एक सैनिक की मौत, तीन घायल
फोटो साभार सोशल मीडिया

काबुल: काबुल एयरपोर्ट पर अज्ञात हमलावरों और अफगान सुरक्षा बलों के बीच झड़प की खबर सामने आई है. संघर्ष में अफगान सुरक्षा बलों का एक जवान मारा गया, जबकि संघर्ष में तीन सैनिक घायल हो गए। जर्मन सेना ने ट्वीट कर यह जानकारी दी। जर्मन सेना ने ट्वीट किया कि अमेरिकी और जर्मन सैनिक भी लड़ाई में शामिल थे और हमारे सभी सैनिक सुरक्षित है। हमलावर कौन थे, यह स्पष्ट नहीं हो सका है। हालांकि कुछ समय से शक की सुई तालिबान पर जा रही है, जिन्होंने काबुल हवाईअड्डे की घेराबंदी कर रखी है।

लोगों में भय का माहौल
युद्धग्रस्त देश की राजधानी पर हमला तब हुआ जब ब्रिटिश सैनिकों ने रविवार को कहा कि काबुल अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे में प्रवेश करने की कोशिश में संघर्ष और गोलीबारी में सात लोग मारे गए थे। तालिबान ने पिछले रविवार को काबुल पर कब्जा करने के बाद हवाई अड्डे की घेराबंदी की। वहीं तालिबान की वापसी और अफगान सरकार के गिरने के बाद से लोगों में डर का माहौल है। ऐसा इसलिए है क्योंकि बड़ी संख्या में लोग देश छोड़ने की कोशिश कर रहे हैं और इसके लिए एयरपोर्ट पर पहुंच रहे हैं।

आगे बढ़ाई जा सकती है अमेरिकी सेना की वापसी की तारीख
संयुक्त राज्य अमेरिका और उसके सहयोगी 20 साल बाद अफगानिस्तान से अपने सैनिकों को वापस बुला रहे हैं। राष्ट्रपति जो बाइडेन के प्रशासन ने सैनिकों की वापसी के लिए 31 अगस्त की समय सीमा तय की है। हालांकि, लगातार बदलती स्थिति को देखते हुए अफगानिस्तान से अमेरिकी सैनिकों की वापसी की तारीख आगे बढ़ाई जा सकती है। बिडेन ने रविवार को कहा, “हम अमेरिकियों के एक समूह को सुरक्षित और प्रभावी ढंग से निकालने के लिए काबुल हवाई अड्डे के परिसर में ले गए हैं।” बिडेन ने कहा कि जो अमेरिकी स्वदेश लौटना चाहते हैं, उन्हें स्वदेश भेज दिया जाएगा।

अहमद मसूद ने पंजशीरो में 300 तालिबानी आतंकियों को मार गिराने का दावा किया है
दूसरी ओर पंजशीर में तालिबान विरोधी लड़ाकों के नेतृत्व में अहमद मसूद की सेना युद्ध के लिए तैयार है। राष्ट्रीय प्रतिरोध मोर्चा, उत्तरी गठबंधन के प्रमुख अहमद मसूद ने तालिबान को चुनौती दी है। अफगानिस्तान में तालिबान आतंकियों से जूझ रहे अहमद मसूद ने युद्ध की घोषणा कर दी है। ऐसे समय में जब तालिबान अपने हजारों आतंकियों को पंजशीर भेज रहा है। इस बीच, मसूद ने 300 तालिबान आतंकवादियों को मार गिराने और कई अन्य को हिरासत में लेने का दावा किया।

निक्की हीली का जो बिडेन पर हमला
अमेरिकी नेता और संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका की पूर्व राजदूत निक्की हेली ने भी बाइडेन पर हमला बोला है। अमेरिका ने तालिबान के सामने पूरी तरह से आत्मसमर्पण कर दिया है। रिपब्लिकन पार्टी की निक्की हेली ने कहा कि अफगानिस्तान में जिस तरह की स्थिति पैदा हुई है, उसके लिए खुद बिडेन जिम्मेदार हैं। ‘यह एक अविश्वसनीय घटना है, जहां तालिबान अमेरिकी नागरिकों को बंधक बना रहे हैं। हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि हम अपने दोस्तों के साथ हैं। हमें अपने नागरिकों और अपने दोस्तों को बाहर निकालने का रास्ता खोजना चाहिए।