अफगानिस्तान: तालिबान ने कई और बड़े शहरों पर किया कब्जा‚ महज 90 KM दूर रही राजधानी काबुल

 | 
अफगानिस्तान: तालिबान ने कई और बड़े शहरों पर किया कब्जा‚ महज 90 KM दूर रही राजधानी काबुल
अफगानिस्तान: तालिबान ने कई और बड़े शहरों पर किया कब्जा‚ महज 90 KM दूर रही राजधानी काबुल

Taliban news: अफगानिस्तान में तालिबान बहुत तेजी से अपना कब्जा करता जा रहा है। हर दिन की सुबह तालिबान कई बड़े क्षेत्रों पर अपना झंडा गाड़ रहा है। गुरुवार को भी तालिबान ने अफगानिस्तान के कई और बड़े शहरों पर अपना कब्जा कर लिया है। इन बड़े शहरों में कंधार‚ गजनी और हेरात शहर शामिल हैं।

अफगानिस्तान सरकार के लिए चिंता की बात यह है कि तालिबान के कब्जे से अब देश की राजधानी महज 90 किलोमीटर दूर रह गई है। अगर तालिबान इसी बढ़त के साथ आगे बढ़ता रहा तो माना जा रहा है कि अगले एक-दो दिन में तालिबान काबुल पर भी अपना कब्जा जमा लेगा जिसके बाद पूरे देश में तालिबान का राज हो जाएगा।

खास बात यह है कि अपनी जान बचाने के लिए अब तालिबान के सामने अफगानी सेना ने भी सरेंडर करना शुरू कर दिया है। गुरूवार को जिन शहरों पर कब्जा किया गया है उन शहरों में सैकड़ों की संख्या में अफगानिस्तानी सैनिकों ने तालिबान के सामने हथियार डाल दिए हैं। तालिबान के कब्जे से इन शहरों में तैनात सभी सरकारी कर्मचारी देश छोड़कर भाग गए हैं।

लगातार मिल रही सफलता से तालिबानी लड़ाकों का हौसला भी बुलंदी पर है। शुक्रवार को तालिबान ने हेरात प्रांत पर भी अपना कब्जा जमा लिया है। हेरात की ऐतिहासिक मस्जिद पर भी तालिबान ने कब्जा कर लिया है। इसके अलावा तालिबान ने शहरों की सरकारी बिल्डिंगों को भी अपना निशाना बनाया है।

अफगानिस्तान के सबसे महत्वपूर्ण शहर माने जाने वाले गजनी पर भी गुरुवार को तालिबान ने अपना अधिकार कायम कर लिया है। गजनी से राजधानी काबुल की दूरी महज 90 किलोमीटर दूर है। एक और खास बात यह है कि गजनी शहर से काबुल तक सीधे लिंक मार्ग है जिसके चलते तालिबान को काबुल पहुंचने में ज्यादा समय नहीं लगेगा। कहा जा सकता है कि 20 साल बाद एक बार फिर तालिबान अफगानिस्तान पर कब्जा करने वाला है।

न्यूज़ एजेंसी के मुताबिक हेरात और गजनी शहर के कुछ इलाकों में ही अफगानी सैनिकों ने तालिबानी लड़ाकों के सामने हथियार डाल दिए हैं। इसके बाद तालिबान ने इन लोगों की जान बखसते हुए इन्हे भगा दिया है। तालिबान ने इससे संबंधित एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर शेयर किया है जिसमें देखा जा सकता है कि अफगानिस्तानी सैनिक तालिबान के सामने सरेंडर कर रहे हैं।

आपको बता दें कि अफगानिस्तान से अमेरिकी और नाटो सेना की वापसी के बाद लगातार तालिबान अफगानिस्तान पर अपना कब्जा करता जा रहा है। अब तक करीब 70 फ़ीसदी हिस्से पर तालिबान अपना कब्जा कर चुका है। माना जा रहा है कि अगले हफ्ते में तालिबान पूरे देश पर कब्जा कर सकता है।

इस बीच अमेरिका ने अपने कर्मचारियों की सुरक्षा के लिए सेना भेजने की घोषणा की है। अमेरिकी दूतावास के कर्मचारियों की सुरक्षा करने के लिए काबुल हवाई अड्डे पर सैनिकों की तैनाती करने की बात कही गई है। अमेरिका के विदेश विभाग ने कहा है कि अफगानिस्तान में बढ़ती चिंता को देखते हुए हमने काबुल में अपने नागरिकों की संख्या कम करने का फैसला किया है।