अफगानिस्तान में काबुल हवाईअड्डे पर गोलीबारी, करीब पांच लोगों की मौत की खबर

 | 
अफगानिस्तान में काबुल हवाईअड्डे पर गोलीबारी, करीब पांच लोगों की मौत की खबर

Firing at Kabul Airport: तालिबान के अफगानिस्तान पर कब्जा करने के बाद मुल्ला अब्दुल गनी बरादर को देश का नया राष्ट्रपति नामित किए जाने की संभावना है। तालिबान देश का नाम बदलकर “अफगानिस्तान के इस्लामी अमीरात” कर सकता था। तालिबान लड़ाकों द्वारा रविवार सुबह काबुल पर धावा बोलने के बाद राष्ट्रपति अशरफ गनी देश छोड़कर चले गए हैं।

अफगानिस्तान में काबुल हवाईअड्डे पर गोलीबारी, करीब पांच लोगों की मौत की खबर

इसके अलावा उप राष्ट्रपति अमरुल्ला सालेह भी अफगानिस्तान छोड़ चुके हैं। वहीं देशवासी और विदेशी भी युद्धग्रस्त देश से बाहर निकलने की कोशिश कर रहे हैं। अफगान सेना के साथ महीनों की लड़ाई के बाद, तालिबान ने आश्चर्यजनक रूप से एक सप्ताह में लगभग पूरे अफगानिस्तान पर कब्जा कर लिया। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) एस्टोनिया और नॉर्वे के अनुरोध पर सोमवार को अफगानिस्तान की स्थिति पर एक आपात बैठक आयोजित की जाएगी।

काबुल एयरपोर्ट पर भारी भीड़ के बाद गोलाबारी की सूचना मिली है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कम से कम 5 लोगों की मौत हो गई है। अफ़ग़ानिस्तान से अपने नागरिकों और कर्मचारियों को निकालने के लिए अमरीका ने अफ़ग़ान हवाई यातायात पर नियंत्रण कर लिया है।


अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जे के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन राष्ट्रीय सुरक्षा दल के साथ आपात बैठक करेंगे। संयुक्त राज्य अमेरिका ने घोषणा की है कि वह अपने नागरिकों और दूतावास के कर्मचारियों को वापस लाने के लिए काबुल हवाई अड्डे पर 6,000 सैनिकों को तैनात करेगा।

पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने विदेश मंत्री एस जयशंकर और भारत सरकार से अफगानिस्तान से 200 सिखों सहित सभी भारतीयों की वापसी के लिए जल्द व्यवस्था करने की अपील की है। उन्होंने कहा, “मेरी सरकार भारतीयों को सुरक्षित लाने में मदद के लिए तैयार है।” एयर इंडिया ने कहा कि अफगान हवाई क्षेत्र बंद होने के बाद उड़ान नहीं भर सकी। काबुल से भारतीयों को लाने के लिए एयर इंडिया की फ्लाइट दिल्ली से दोपहर 12:30 बजे उड़ान भरने वाली थी।

यह भी पढ़ें- Afghan Crisis: अशरफ गनी ने कहा, देश ना छोड़ता तो “काबुल तबाह हो गया होता

यह भी पढ़ें- Afghanistan: संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की बैठक आज‚ अफगानिस्तान के मौजूदा हालात पर होगी चर्चा