काबुल धमाका: अमेरिका की आतंकियों को खुली चेतावनी -"इसका अंजाम भुगतना पड़ेगा, हम छोड़ेंगे नही, चुन-चुनकर मरेंगे"

 | 
काबुल धमाका: अमेरिका की आतंकियों को खुली चेतावनी -"इसका अंजाम भुगतना पड़ेगा, हम छोड़ेंगे नही, चुन-चुनकर मरेंगे"
काबुल धमाका: अमेरिका की आतंकियों को खुली चेतावनी -"इसका अंजाम भुगतना पड़ेगा, हम छोड़ेंगे नही, चुन-चुनकर मरेंगे"
अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन

अमेरिका: गुरुवार को काबुल हवाई अड्डे के पास हुए सीरियल बम धमाकों में अब तक 72 लोगो की मौत हो गयी। जिनमे 13 अमेरिकी जवानों की मौत के बाद राष्ट्रपति जो बाइडन ने आतंकियों को कड़े शब्दों में खुलेआम चुनौती देते हुए कहा, ‘हम माफ नहीं करेंगे, हम नहीं भूलेंगे। हम चुन-चुनकर तुम्हारा शिकार करेंगे और मारेंगे। आपको इसका अंजाम भुगतना ही होगा।’ उन्होंने ऐलान किया है कि अफगानिस्तान से अमेरिकी नागरिकों को निकालने का काम बन्द नही होगा।

उन्होंने आगे कहा कि हम अमेरिकी नागरिकों को बचाएंगे। हम अपने अफगान सहयोगियों को भी बाहर निकालेंगे और हमारा मिशन जारी रहेगा। काबुल हवाईअड्डे पर हुए हमलों में तालिबान और इस्लामिक स्टेट के बीच मिलीभगत का अब तक कोई सबूत नहीं मिला है। अमेरिका के एक सैन्य अधिकारी ने काबुल में ऐसे और आत्मघाती हमले होने की आशंका जताई है।

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुतारेस ने काबुल हवाईअड्डे पर हुए आतंकवादी हमले की निंदा की है। ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने हमले को बर्बर करार देते हुए कहा कि निकासी अभियान तेजी से जारी रखने की जरूरत है।

फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने कहा कि धमाकों के कारण काबुल हवाईअड्डे के पास हालात गंभीर रूप से बिगड़े हैं। अमेरिका के साथ समन्वय करके फ्रांस अपने नागरिकों, अन्य सहयोगी देशों के लोगों और अफगानों को निकालना जारी रखेगा।’