फिर सामने आया तालिबान का क्रूर चेहरा, परिवार के सामने गर्भवती महिला पुलिस अफसर को मारी गोली

 | 
फिर सामने आया तालिबान का क्रूर चेहरा, परिवार के सामने गर्भवती महिला पुलिस अफसर को मारी गोली
फिर सामने आया तालिबान का क्रूर चेहरा, परिवार के सामने गर्भवती महिला पुलिस अफसर को मारी गोली

नई दिल्ली: अफगानिस्तान पर कब्जे के बाद से तालिबान का उग्रवाद बढ़ता ही जा रहा है। तालिबान ने रविवार को घोर प्रांत में एक गर्भवती महिला की उसके परिवार के सामने गोली मारकर हत्या कर दी। घटना घोर प्रांत की राजधानी फिरोजकोह में हुई। इसके बाद से प्रांत में तालिबान को लेकर और दहशत का माहौल है।

बीबीसी के मुताबिक महिला पुलिस अधिकारी का नाम बानो नेगर है. उसके परिवार ने कहा, ‘हमले के वक्त वह 6 महीने की गर्भवती थी। हमले में उसका पूरा चेहरा बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया था।” वहीं, द सन की एक अन्य रिपोर्ट के अनुसार, तालिबान के हमले के दौरान उन्हें उनके बच्चों और पति के सामने मार दिया गया।

महिला पुलिस अधिकारी की खून से लथपथ तस्वीरें भी सोशल मीडिया पर प्रसारित की गईं। जहां उनका शव खून से लथपथ कालीन पर पड़ा था। महिला पुलिस अधिकारी के परिवार ने कहा, “स्थानीय तालिबान ने घटना की जांच का वादा किया है।

” प्रदर्शनकारियों पर अत्याचार,

तालिबान के ठिकाने इससे पहले, हेरात प्रांत में दर्जनों महिलाओं ने महिलाओं के अधिकारों और सरकार में प्रतिनिधित्व की मांग को लेकर विरोध प्रदर्शन किया। शनिवार को तालिबान ने काबुल में महिलाओं के विरोध प्रदर्शन पर भी हमला किया। प्रदर्शनकारी महिलाओं के नागरिक अधिकारों को जारी रखने की मांग कर रहे थे, जो पिछले तालिबान शासन के अंत के बाद एक लोकतांत्रिक शासन में बनाए गए थे।

प्रदर्शनकारियों ने दावा किया कि जब उन्होंने राष्ट्रपति भवन की ओर मार्च करने की कोशिश की तो राष्ट्रपति भवन पर आंसू गैस के गोले दागे गए। एक प्रदर्शनकारी ने रॉयटर्स को बताया, “हमें बंदूक की पत्रिकाओं द्वारा निशाना बनाया गया था।” तालिबान के पतन का आदेश रविवार को मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, तालिबान आतंकवादियों द्वारा बिना हिजाब या बुर्का के देखे जाने पर अफगान महिलाओं ने अपना सिर और चेहरा ढंकना शुरू कर दिया। पिछले हफ्ते तालिबान ने निजी विश्वविद्यालयों को एक फरमान जारी कर उन्हें पुरुष और महिला छात्रों को एक साथ नहीं पढ़ाने का आदेश दिया।