World: सत्ता में आते ही तालिबान ने रिहा किए 2300 खूंखार आतंकी‚ दुनिया के लिए खतरा

 | 
World: सत्ता में आते ही तालिबान ने रिहा किए 2300 खूंखार आतंकी‚ दुनिया के लिए खतरा
World: सत्ता में आते ही तालिबान ने रिहा किए 2300 खूंखार आतंकी‚ दुनिया के लिए खतरा

काबुल: अफगानिस्तान में सत्ता में आने के साथ ही तालिबान ने अपना रंग दिखाना शुरू कर दिया है। सत्ता संभालते ही तालिबान ने अफगानिस्तान की जेलों में बंद करीब 2300 खूंखार आतंकवादियों को रिहा कर दिया है। इन आतंकियों में टीटीपी का पर्वू डिप्टी चीफ फकीर मोहम्मद भी शामिल है इसके अलावा आतंकी तहरीक-ए-तालिबान‚ अल कायदा और आईएसआईएस से जुड़े आतंकी भी शामिल हैं।

यह सभी आतंकी कई साल से अफगानिस्तान की अलग-अलग जेलों में बंद थे। जानकारी के मुताबिक कंधार‚ बगराम और काबुल की जेलों में बंद इन आतंकियों को मंगलवार को रिहा कर दिया गया। हालांकि कुछ कैदियों को 15 अगस्त के दिन ही उस समय रिहा कर दिया गया था जब तालिबान काबुल में अपनी बढ़त बना रहा था। बताया जा रहा है कि टीटीपी का पूर्व डिप्टी चीफ मौलवी फकीर मोहम्मद अफगानिस्तान के साथ पाकिस्तान के लिए भी चिंता का विषय है।

यह भी जानकारी सामने आई है कि पाकिस्तान के आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा और लश्कर ए झांगवी भी अफगानिस्तान में तालिबान के साथ मिलकर काम कर रहे हैं। इन संगठनों को जल्द ही अफगानिस्तान में कोई बड़ी जिम्मेदारी मिल सकती है। ध्यान रहे कि साल 1996 से लेकर 2001 तक अफगानिस्तान में तालिबान का ही शासन था। 11 सितंबर 2001 को अमेरिका के वर्ल्ड ट्रेड सेंटर पर हुए हमले के बाद अमेरिका ने अफगानिस्तान पर सैन्य कार्रवाई करते हुए तालिबान के शासन को खत्म करा दिया था।

अब जब अफगानिस्तान से अमेरिकी सेना वापस हो गई है तो तालिबान ने बंदूक के जोर पर एक बार फिर मजबूती के साथ अफगानिस्तान में सत्ता में वापसी कर ली है। तालिबान के डर से राष्ट्रपति अशरफ गनी काबुल भाग गए हैं। इसके अलावा हजारों लोग भी देश छोड़ने को मजबूर हैं। इनमें महिलाओं और बच्चों की संख्या सबसे ज्यादा है।

यह भी पढ़ें